ओम का नियम क्या है ?/ ओम का नियम iti – Electronic Gyan

Advertisements
दोस्तों अगर आप इलेक्ट्रॉनिक्स को समझना चाहते हैं। तो आप को ओम का नियम को समझना बहुत जरुरी है। ओम का नियम का क्या है यह समझाने की कोसिस की है 

ओम का नियम का इतिहास

सन् १८२५२६में जर्मन भौतिकविद् एवं तकनीकी विश्वविद्यालय के प्रोफेसरजॉर्ज साइमन ओम ने यह नियम प्रतिपादित किया था।
यदि किसी चालक का तापमान और भौतिक अवस्था स्थिर रहे तो किसी बंद डी.सी. वैधुतिक सर्किट में किसी चालक के सिरो पर पैदा  होने वाला विभवान्तर (p.d ) उसमे से बहने वाली करंट के अनुक्रमानुपाती होता हैं

 

Advertisements

ओम का नियम iti

अर्थात         V  I
  या          V/I = नियतांक
  या          V/I = R
ओम का नियम iti
ohm low

 

ओम का नियम
ohm low
ओम का नियम
ohm low
                       I   =   करंट
                       V  =   वोल्टेज
                       R  =   रेसिस्टेन्स
दोस्तों अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी और उपयोगी लगी है तो आपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। और पोस्ट को Like और Share जरूर करे । और इलेक्ट्रॉनिक्स की जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग www.electronicgyan.com को फॉलो करे.