Star delta starter का प्रयोग मोटर में क्यों किया जाता है ?

      Comments Off on Star delta starter का प्रयोग मोटर में क्यों किया जाता है ?
star delta connection

अधिकांश प्रेरण मोटर्स सीधे लाइन पर शुरू होते हैं, लेकिन जब बहुत अधिक HP की मोटर्स इस तरह से शुरू होती हैं, तो वे शुरुआत में अधिक वोल्टेज लेने के कारण आपूर्ति लाइनों पर वोल्टेज की परेशानी का कारण बनती हैं। मोटर्स की शुरुआती current को कम करने के लिए अधिक HP की मोटर्स को कम starting वोल्टेज पर चलाया जाता है और फिर घूर्णन गति तक पहुंचने पर पूर्ण आपूर्ति वोल्टेज को फिर से कनेक्ट किया जाता है। यह कार्य Star Delta starter के द्वारा किया जाता है

 

Star-Delta starter का कार्य करने का सिद्धान्त।

प्रारंभिक वोल्टेज में कमी के लिए उपयोग की जाने वाली दो विधियां हैं: Star Delta प्रारंभ और Auto Transformer शुरू करना। Star Delta यह कम वोल्टेज पर मोटर को शुरू करने की विधि है। अधिक HP कि मोटर शुरुआत में ज्यादा लोड लेती है जिस कारण मोटर के जलने की उम्मीद ज्यादा होती है इस को जलने से बचने के लिए हम StarDelta starter का इस्तेमाल करते है। यह starter मोटर को पहले स्टार में स्टार्ट करता है, Star में मोटर को कम starting वोल्टेज पर चलाया जाता है 

Star Delta connection circuit

star delta connection

star delta connection

जरूर पढ़े

 

कुछ सेकंड चलने के बाद मोटर स्टार्टर के द्वारा automatic डेल्टा में आ जाती है और मोटर अपनी सामान्य गति पर चलने लगती है starter का इस्तेमाल मोटर की सेफ्टी और सुलभता से संचालित करने के लिए किया जाता है और बिजली की आपूर्ति पर गड़बड़ी और हस्तक्षेप को कम करने के साधन के रूप में शुरुआत के दौरान मोटर पर लगाए गए प्राम्भिक प्रवाह को कम करने के प्रयास में उपयोग किया जाता है 

5 HP से अधिक शक्ति वाली मोटर्स के प्रचालन के लिए यह Star-Delta starter प्रयोग किया जाता है। यह मोटर को पूर्ण वोल्टेज के 58% वोल्टेज पर स्टार-संयोजन में चलता है। जब मोटर गति प्राप्त कर लेती है ,तो यह उसे डेल्टा में संयोजित कर देता है।

 

दोस्तों अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी और उपयोगी लगी है तो आपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। और पोस्ट कोLike और Share जरूर करे । और इलेक्ट्रॉनिक्स की जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग को फॉलो करे.