वैक्यूम ट्यूब वोल्टमीटर (V.T.V.M.)

      Comments Off on वैक्यूम ट्यूब वोल्टमीटर (V.T.V.M.)

1 . परिचय :- यधपि इलैक्ट्रोनिक वोल्ट मीटर (E.V.M. or D.V.M.) के विकसित हो जाने के बाद (V.T.V.M.) का प्रचलन लगभग समाप्त हो गया है तो भी उसके यथार्थता से मापन गुण के कारण कुछ कार्यो में इसकी उपयोगिता विद्यमान है |

 

2 . संरचना : इसमें मुख्यतः एक ट्रायोड एम्पलीफायर सर्किट एक रेक्टिफायर स्टेज तथा एक मिली एमीटर होता है |

Vacuum Tube Volt Meter (V.T.V.M.) 

वैक्यूम ट्यूब वोल्टमीटर (V.T.V.M.)

वैक्यूम ट्यूब वोल्टमीटर (V.T.V.M.)

 

वैक्यूम ट्यूब वोल्टमीटर की कार्य विधि :-

3 . कार्य विधि :- वैक्यूम ट्यूब वोल्टमीटर ट्रायोड वाल्व की कन्ट्रोल ग्रिड को ‘कट -ऑफ ‘ बायस पर रखा जाता है अतः यंत्र का इनपुट प्रतिरोध अनन्त होता है | शून्य इनपुट के लिए यंत्र का आउटपुट भी शून्य होता है | जब इनपुट में ए.सी अथवा डी.सी वोल्टेज प्रदान किया जाता है तो नेगेटिव हाफ साईकिल के लिए तो आउटपुट शून्य ही रहता है क्योकि निगेटिव वोल्टेज ग्रिड बायस मान को और बढ़ा देता है जो की पहले से ही कट ऑफ पर थी | पॉजिटिव वोल्टेज अथवा पॉजिटिव हाफ साईकिल इनपुट के लिए ग्रिड बायस का मान घटता है और वाल्व में एनोड करंट प्रवाह प्रारम्भ जाता है |

एनोड सर्किट में लगाया गया मिली एमीटर सीधे ही वोल्टेज मान दर्शाने के लिए अंकित होता है अतः वह इनपुट वोल्टेज की सही माप दर्शाने लगता है | ट्रायोड सर्किट में विभिन्न मान के R1 तथा R2 प्रयोग करके विभिन्न मापसीमाएँ प्राप्त की जा सकती है |

4 . पैनल कन्ट्रोल्स :-
(i) वोल्टेज रेंज कन्ट्रोल
(ii) शून्य समायोजक कन्ट्रोल
(iii) ऑन / ऑफ कन्ट्रोल

5 . उपयोग :-
(i) मिली एव माइक्रो स्तर के वोल्टेज का सूक्ष्मता से मापन |
(ii) ए.सी. तथा डी.सी. दोनों प्रकार के वोल्टेज का मापन |
(iii) उच्च फ्रीकवेंसी ए.सी.वोल्टेज का मापन |
(iv) एम्पलीफायर स्टेज का वोल्टेज गेन मापन |

6 . प्रचालन सावधानिया :-
(i) यदि नापे जाने वाले वोल्टेज का सही अनुमान न हो तो प्रारम्भ में बड़ी मापसीमा का चयन करे |
(ii) माप लेने से पूर्व शून्य समायोजक कन्ट्रोल से मीटर के संकेतक को शून्य पर समायोजित कर ले |

दोस्तों अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी और उपयोगी लगी है तो आपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। और पोस्ट कोLike और Share जरूर करे । और इलेक्ट्रॉनिक्स की जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग www.electronicgyan.com को फॉलो करे.