फ्यूज फ्लोरोसेन्ट ट्यूब को पुनः उपयोग करना

      Comments Off on फ्यूज फ्लोरोसेन्ट ट्यूब को पुनः उपयोग करना
फ्यूज फ्लोरोसेन्ट ट्यूब को पुनः उपयोग करना

नमस्कार  _/ \_ हम अपने घरो और कम्पनियो में फ्लोरोसेन्ट ट्यूब का उपयोग करते है | आज की पोस्ट में हम आपको बता रहे है की यदि फ्लोरोसेन्ट ट्यूब आधी फ्यूज हो जाये तो उसका उपयोग कैसे करे | फ्यूज फ्लोरोसेन्ट ट्यूब को पुनः उपयोग


उदेश्य (Aim) :- फ्यूज फ्लोरोसेन्ट ट्यूब को पुनः उपयोग करना |

कच्ची सामग्री

  1.     ट्यूब बेस विद होल्डर
  2.     चोक 40 वाट
  3.     फ्यूज किट कैट
  4.     220 Ω / 10 वाट प्रतिरोध
  5.     वायर आवश्यकतानुसार
  6.     फ्यूज ट्यूब रॉड 40 वाट
  7.     स्टार्टर 40 वाट
  8.     S.P.S.T. स्विच
  9.     2.5μF / 400 W.V कैपासिटर

प्रायोगिक विधि (Experimental Methode)

यदि फ्लोरोसेन्ट ट्यूब ख़राब हो गई हो तो उसे दुबारा प्रयोग में लाया जा सकता है | इसके लिए उसे चित्र के अनुसार जोड़ा जाता है |

फ्यूज फ्लोरोसेन्ट ट्यूब को पुनः उपयोग करना

फ्यूज फ्लोरोसेन्ट ट्यूब को पुनः उपयोग करना

 

फ्यूज ट्यूब का कनैक्शन डायग्राम अच्छी ट्यूब के समान ही हैइसमे केवल अन्तर यह है की फ्यूज फ्लोरोसेन्ट ट्यूब को पुनः उपयोग में लाने के लिए इसके साथ स्टार्टर के सीरीज में एक ओर 220 Ω /10 वाट का वायर वाउन्ड  रेजिस्टेंस तथा स्टार्टर के दूसरी ओर ट्यूब केसीरीज में एक 2.5 माइक्रो फैराड/400 W.V कैपासिटर कनैक्ट करते है | उसके बाद इसको 220V/A.C पावर सप्लाई से कनैक्ट करते है |जिससे फ्लोरोसेन्ट ट्यूब जलने लगती है यदि 220 Ω के रेजिस्टेंस के साथ फ्यूज ट्यूब नही जलती है तोएक कॉपर वायर के साथ शार्ट करके देखना चाहिये |



इन्हे भी देखे 

  1. फ्लोरोसेन्ट ट्यूब कनैक्शन सर्किट
  2. म्यूजिक बेल्ल सर्किट
  3. Varistor,LDR रेसिस्टर
  4. विधुत चुम्बक
  5. मल्टीमीटर से डायोड की टैस्टिंग

सावधानिया (Precautions)

  •  सभी कनैक्शन भली भांति कसकर लगाने चाहिये |
  •  यदि फ्लोरोसेन्ट ट्यूब 100 watt की होतो कैपासिटर 5 माइक्रोफैराड/400 W.V कालगाना चाहिये |
  •  फेज वायर को चोक द्वारा ही जोड़ना चाहिये |
  •  सुरक्षा केलिए फ्यूज वायर का प्रयोग करना चाहिये |

दोस्तों अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी और उपयोगी लगी है तो आपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। और पोस्ट को Like और Share जरूर करे । और इलेक्ट्रॉनिक्स की जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग www.electronicgyan.com को फॉलो करे.