कैपेसिटर की टैस्टिंग

      Comments Off on कैपेसिटर की टैस्टिंग
हेल्लो दोस्तों 

हमे इलैक्ट्रोनिक्स कॉम्पोनेंट्स यूज करने के साथ साथ उन कॉम्पोनेंट्स  की टैस्टिंग भी आनी चाहिए। आज हम आपको बताते है की कैपेसिटर की टैस्टिंग कैसे करते है। बहुत से दोस्त यह जानते होंगे की कैपेसिटर की टैस्टिंग कैसे करते है लेकिन जो नही जानते है और अभी इलैक्ट्रोनिक्स सीख ही रहे है उनके लिए यह पोस्ट बहुत ही उपयोगी है। 

 

       कैपेसिटेन्स मीटर के द्वारा टैस्टिंगइसके द्वारा हम किसी भी कैपेसिटर की सीधे सीधे वैल्यू (माइक्रो फैरड, नेनो फैरड,पिको फैरड, ) ज्ञात कर सकते है। मान की एक कैपेसिटर के ऊपर 4.7 MFD लिखा है । जब हम इसको कैपेसिटर मीटर से जोड़ते है तो 4.7 MFD के आस पास की वैल्यू को सो करना चाहिये यदि अगर बहुत कम जैसे की 2.2 MFD सो कर रहा है तो कैपेसिटर खराब माना जायेगा इस कन्डीशन को लीकेज कन्डीशन कहा जा सकता है ।यदि कैपसिटर्स मीटर 0μसो कर रहा है तो या तो कैपेसिटर बहुत कम वैल्यू का है या फिर वह ओपन है खराब है।

 कैपेसिटर की टैस्टिंग

कैपेसिटर की टैस्टिंग

कैपेसिटर की टैस्टिंग

मल्टीमीटर के द्वारा कैपेसिटर की टैस्टिंग – डिजिटल मल्टीमीटर को टैस्टिंग किये जाने वाले कैपेसिटर की वैल्यू के हिसाब से रेसिस्टेन्स की रेंज पर रखकर कैपेसिटर के दोनों सिरों से जोड़ते है अगर मल्टीमीटर लगाते ही कम रेसिस्टेन्स दिखाता है। ओर उसके बाद बढ़कर अनन्त ओम सो करता है तो कैपेसिटर ठीक है । और अगर मल्टीमीटर लगातार 0 ओम रेसिस्टेन्स दिखाता रहता है तो कैपेसिटर शॉर्ट है । यदि मल्टीमीटर सुरुवात से ही अनन्त ओम दिखाता है तो कैपेसिटर ओपन है या ख़राब है। या फिर वह इतनी कम वैल्यू का है कि मिली सेकण्ड में ही चार्ज होकर अनन्त ओम दिखाता है।
 

मल्टीमीटर के द्वारा कैपेसिटर की टैस्टिंग

एनालॉग मीटर द्वारा टैस्टिंग –  एनालॉग मल्टीमीटर को रेसिस्टेन्स की उचित रेंज पर रखकर कैपेसिटर के दोनों सिरों से जोड़ते है । अगर मल्टीमीटर की सुई तेजी से आगे बढ़कर वापस अपनी पूर्व अवस्था में आ जाती है तो कैपेसिटर सही है। और अगर मल्टीमीटर की सुई आगे तो जाती है लेकिन वही रुकी रहती है तो कैपेसिटर शॉर्ट है। और अगर मल्टीमीटर की सुई आगे जाकर वापस तो आती है लेकिन पूर्व अवस्था से पहले ही रुक जाती है कैपेसिटर लीकेज है और अगर मल्टीमीटर की सुई आगे नही बढ़ती तो कैपेसिटर ओपन है या फिर ऐसा भी हो सकता है कि मल्टीमीटर रेसिस्टेन्स की रेंज के हिसाब से कैपेसिटर बहुत ही कम वैल्यू का है।

एनालॉग मीटर द्वारा टैस्टिंग

Note –कोई भी कैपेसिटर जितनी ज्यादा कम वैल्यू का होगा मल्टीमीटर को रेसिस्टेन्स की उतनी हाई रेंज पर रखना होगा।
दोस्तों अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी और उपयोगी लगी है तो आपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। और पोस्ट को Like और Share जरूर करे । और इलेक्ट्रॉनिक्स की जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग को फॉलो करे.