चुम्बकीय सुई और चुम्बकीय क्षेत्र किसे कहते है?

Advertisements
चुम्बकीय सुई

नमस्कार _/ \_ आज की पोस्ट में हम आपको बता रहे है की चुम्बकीय सुई और चुम्बकीय क्षेत्र किसे कहते है|चुम्बकीय सुई से उत्तर-दक्षिण दिशा को कैसे खोजा जाता है| जलयान में चुम्बकीय सुई का उपयोग दिशा देखने के लिये किया जाता है |

Advertisements

 

चुम्बकीय सुई या चुम्बकीय कम्पास (Magnetic Needle) में एक छोटे सुई के आकार के चुम्बक को एक काँच के ढक्कन वाले अचुम्बकीय पदार्थ से बने खोल में एक चूल (pivot) पर आलम्बित किया जाता है | सुई के उत्तरी-धूर्व अंश को काले रंग दिया जाता है | जिससे की दोनों धुरवों में से उत्तरी-धूर्व को स्पष्ट रूप से पहचाना जा सके | चुम्बको के उपरोक्त वर्णित गुणों के अनुसार,चुम्बकीय सुई सदैव उत्तर-दक्षिण दिशा में ठहरती है| इस लघु यंत्र का उपयोग, प्रयोगशालाओ में किया जाता है | नाविक, इस यंत्र की सहायता से अपने जलयान के शीर्ष की दिशा को वास्तविक उत्तर दिशा (True north) की अपेक्षा वांच्छिक दिशा में सैट करने के लिए प्रयोग करते है |

 

Advertisements

     

चुम्बकीय क्षेत्र (Magnetic Field)

किसी चुम्बक के चारो ओर का वह क्षेत्र जिसमे किसी बिन्दु पर रखी गई चुम्बकीय सुई (Magnetic Needle) एक निश्चित दिशा में ठहर जाती है चुम्बकीय क्षेत्र कहलाता है | चुम्बकीय क्षेत्र को काल्पनिक बल रेखाओ (Magnetic Lines of force ) का बना माना जाता है | चुम्बकीय बल रेखा एक निषकोण वक्र है जिसके किसी बिन्दु पर खीची गई स्पर्श रेखा उस बिन्दु पर कार्यरत चुम्बकीय क्षेत्र की दिशा को प्रदर्शित करती है |

चुम्बकीय सुई
चुम्बकीय क्षेत्र

चुम्बकीय बल रेखाओ के गुण

  1. ये चुम्बक के बाहर उसके उत्तरी धुर्व से दक्षिणी धुर्व की ओर तथा चुम्बक के अन्दर दक्षिणी धुर्व से उत्तरी धुर्व की ओर चलती है |
  2. दो बल रेखाएं एक दुसरे को नही कटती |
  3. चुम्बकीय क्षेत्र में चुम्बकीय बल रेखा के किसी बिन्दु पर खीची गई स्पर्श रेखा उस बिन्दु पर चुम्बकीय क्षेत्र की दिशा दर्शाती है |
 

दोस्तों अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको अच्छी और उपयोगी लगी है तो आपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। और पोस्ट को Like और Share जरूर करे । और इलेक्ट्रॉनिक्स की जानकारी के लिए हमारे ब्लॉग www.electronicgyan.com को फॉलो करे.